कौन सा पति खरीदूँ…?

/ February 11, 2021/ 0 comments

शहर के बाज़ार में एक बड़ी दुकान खुली जिस पर लिखा था – “यहाँ आप पतियों को ख़रीद सकती है |”
देखते ही देखते औरतों का एक हुजूम वहां जमा होने लगा. सभी दुकान में दाख़िल होने के लिए बेचैन थी, लंबी क़तारें लग गयी.
दुकान के मैन गेट पर लिखा था –
“पति ख़रीदने के लिए निम्न शर्ते लागू” 👇👇
✡ इस दुकान में कोई भी औरत सिर्फ एक बार ही दाख़िल हो सकती है, आधार कार्ड लाना आवश्यक है …
✡ दुकान की 6 मंज़िले है, और प्रत्येक मंजिल पर पतियों के प्रकार के बारे में लिखा है….
✡ ख़रीदार औरत किसी भी मंजिल से अपना पति चुन सकती है….
✡ लेकिन एक बार ऊपर जाने के बाद दोबारा नीचे नहीं आ सकती, सिवाय बाहर जाने के…

एक खुबसूरत लड़की को दूकान में दाख़िल होने का मौक़ा मिला…
पहली मंजिल के दरवाज़े पर लिखा था – “इस मंजिल के पति अच्छे रोज़गार वाले है और नेक है.”

लड़की आगे बढ़ी ..
दूसरी मंजिल पर लिखा था – “इस मंजिल के पति अच्छे रोज़गार वाले है, नेक है और बच्चों को पसंद करते है.”

लड़की फिर आगे बढ़ी …
तीसरी मंजिल के दरवाजे पर लिखा था – “इस मंजिल के पति अच्छे रोज़गार वाले है, नेक है और खुबसूरत भी है.”

मेरा शौहर कैसा हो?

/ February 10, 2021/ 0 comments

मेरा शौहर कैसा हो?
हर लड़की की अपने होने वाले शौहर के बारे में कुछ ना कुछ ख्वाहिशात होती हैं, कुछ सपने होते हैं कि वो कैसा होना चाहिये।
पहले लड़कियों की सोच अलग थी लेकिन अब फिल्में देख देख कर, बाज़ारों में घूम घूम कर लड़कियों का दिमाग खराब हो चुका है और उन की पसंद को भी लक़वा मार चुका है।
अभी आप देखें तो लड़कियों को ऐसा शौहर चाहिये जो स्टाइलिश हो, दाढ़ी वगैरा ना हो, भले ही एक लाख रूपये और एक गाड़ी ले लेकिन कुँवारा हो ताकि पूरा पूरा प्यार दे सके, फिल्में दिखाने ले जाये, लॉन्ग ड्राइव पर ले जाये, मेलों ठेलों में घुमाये और पर्दे की बिल्कुल बात ना करे।
ये वो बातें हैं जिन की वजह से लड़कियों की और उन से जुड़े लोगों की ज़िन्दगी बद हाल हो रही है।
इमाम गज़ाली रहीमहुल्लाह लिखते हैं कि (जब किसी लड़की के पास निकाह का पैगाम आये तो वो) अपने घर के क़ाबिले एतिमाद मर्द को कहे कि वो पैगाम देने वाले लड़के के दीन, अक़ीदे, साहिब -ए- मुरव्वत होने और वादे का पक्का होने के मुतल्लिक़ मालूमात हासिल करे।
और ये मालूम करे कि वो पाबंदी से बा जमा’अत नमाज़ पढ़ता है या नहीं।
और ये कि वो अपने कारोबार और तिजारत में मुख्लिस है या नहीं।
और उस के दीन और सीरत को देखे, माल दौलत और शोहरत को नहीं।
(انظر: آدابِ، مترجم، ص47)
ये बातें आज कल नहीं देखी जाती बल्कि पहला सवाल ये होता है कि लड़का कितना कमाता है।
अल्लाह त’आला हमें सालिहीन की इत्तिबा की तौफीक़ अता फरमाये।

क्या आपके यहाँ शादी है?

/ January 28, 2021/ 0 comments

👇🏻 इन बातो पर पूरा ध्यान दे 👇🏻
🌷 शादी को कम ख़र्चे में करने की कोशिश करे।
🌷लड़के को सोना चांदी का तोहफ़ा बिलकुल भी ना दे।
🌷 शादी से पहले D J , ढोल ताशा, नाच गाना वगेरा से बचे के ये फ़िज़ूल खर्ची है ।
🌷 मुख़्तसर सी बारात की रवानगी की जल्द करे।
🌷दलहन की बहेने और दूल्हे के दोस्तो का हसी मज़ाक करना ये बेहूदगी ( मंजे की रस्म ) को सख्ती से बन्द करे ।
🌷 निक़ाह वक़्त पर करने से महमानों और औरतो को खाना खिलाने में आसानी होती है।
🌷 निक़ाह के लिए पहेले ही से अपने मोहल्ले की मस्जिद के सहियुल अक़ीदा ईमाम (काज़ी ) का इन्तेज़ाम करे । ये उन्ही का हक है।
🌷 निक़ाह पढ़ाने के साथ साथ इमाम साहेब को खाने की भी दावत पहेले ही से दीजिए ऐसा ना हो के आये है तो खाकर जाओ।

शादी लायक मुस्लिम लड़के और लड़कियों के रिश्ते की किताब PDF Book Password Protected 2021

/ January 27, 2021/ 0 comments

सपना आपका जिम्मेदारी हमारी
PDF Book शादी के रिश्तो की किताब आपको पीडीएफ फाइल में उपलब्ध कराई जाएगी जिसमे 500 लड़के और लड़कियों के बायोडाटा फोटो मोबाइल नंबर एड्रेस सभी जानकारी के साथ होंगे