क्या आपके यहाँ शादी है?

..... क्या आपके यहाँ शादी है? 👇🏻 इन बातो पर पूरा ध्यान दे 👇🏻 🌷 शादी को कम ख़र्चे में करने की कोशिश करे। 🌷लड़के को सोना चांदी का तोहफ़ा बिलकुल भी ना दे। 🌷 शादी से पहले D J , ढोल ताशा, नाच गाना वगेरा से बचे के ये फ़िज़ूल खर्ची है । 🌷 मुख़्तसर सी बारात की रवानगी की जल्द करे। 🌷दलहन की बहेने और दूल्हे के दोस्तो का हसी मज़ाक करना ये बेहूदगी ( मंजे की रस्म ) को सख्ती से बन्द करे । 🌷 निक़ाह वक़्त पर करने से महमानों और औरतो को खाना खिलाने में आसानी होती है। 🌷 निक़ाह के लिए पहेले ही से अपने मोहल्ले की मस्जिद के सहियुल अक़ीदा ईमाम (काज़ी ) का इन्तेज़ाम करे । ये उन्ही का हक है। 🌷 निक़ाह पढ़ाने के साथ साथ इमाम साहेब को खाने की भी दावत पहेले ही से दीजिए ऐसा ना हो के आये है तो खाकर जाओ। 🌷 निक़ाह के लिए स्टेज़ पर काज़ी साहेब,दूल्हा और वकील गवाह के लिए कुरसियों का इन्तेज़ाम जरूर करे। 🌷 निक़ाह के लिए साउन्ड सिस्टम्स (🎤📢)इन्तेज़ाम जरूर करे। 🌷निक़ाह के लिए दुल्हन के महरम रिश्तेदार को ही वकील बनाए। 🌷निक़ाह का महेर लड़की का हक़ होता है उसे वही तय करती है ,पंच या रिश्तेदार नही तय करते। 🌷निक़ाह का महेर शरीयत के मुताबिक ( साढ़े तीन ग्राम सोना )ही रक्कम रखे। 786,और 5100 का रिवाज़ खत्म करें । 🌷 जूते छुपाने वाली रस्म का शरीयत के ख़िलाफ़ है इसे भी खत्म करें। 👑 अच्छे काम की शुरुवात अपने से ही शुरू करेगे लोग भी अमल करेंगें 👑 🙏🏻 मैसेज समझमे आया हो तो आगे फॉरवर्ड करे 🙏🏻

error: Content is protected !!